corona virus kya hai

चीन में Corona Virus से मरने वालों की संख्या बढ़ती ही जा रही है |अब तक 22 देशों में इसके मरीज सामने आ चुके हैं विश्व संगठन ने इसे पहले ही इमरजेंसी घोषित कर चुका है  और भारत में भी कोरोना वायरस से पीड़ित मामले सामने आ चुके हैं |

तो आज हम बात करेंगे corona virus के बारे में की corona virus क्या है ? इसके लक्षण क्या – क्या है? और इसके उपचार क्या -क्या है ?

Also read : IPS क्या है 

Also read : CCC क्या है

Also read : Dark क्या है

चीनी इसे रोकने की हर मुमकिन कोशिश कर रहा है और दुनिया भर में कोरोना वायरस के मामले सामने आ रहे हैं स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए इसे फैलने से रोकने में एक बहुत बड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है | डब्ल्यूएचओ ने वायरस को अंतरराष्ट्रीय आपातकाल घोषित कर दिया है | 

तो चलिए हम जानते हैं कि आखिर में यह कोरोनावायरस है क्या ?  इसके क्या लक्षण है ? इससे बचने के क्या – क्या उपाय हैं?

कोरोना वायरस क्या है ( What is corona virus )


 

सबसे पहले तो आपको यह समझने की जरूरत है कि कोरोना वायरस कोई एकलौटा वायरस नहीं है, यह वायरस की एक फैमिली है | हमें जो कॉमन जुखाम होता है, जो सर्दियों में हमें खांसी जुखाम हो जाता है वह भी एक प्रकार का कोरोना वायरस ही होता है | 2002-2003 में एक SARS-CoV नाम का वायरस फैला था वह भी एक प्रकार का कोरोनावायरस ही था |

इस टाइम जो लोगों को इफेक्ट कर रहा है वह एक नए प्रकार का कोरोनावायरस है | जो कि चाइना के wuhan जगह में, 31 दिसंबर 2019 को पाया गया था । यह जो कोरोनावायरस है इसका नाम रखा गया है 2019 – nCoV यानी Novel Corona Virus|

Novel का मतलब होता है नया यानी कि यह इतना नया है कि इसका नाम भी नहीं सोच पाए | इसलिए इसका नाम इन्होंने रख दिया नोवल कोरोना वायरस |  जैसा कि हम जानते हैं कि सारे कोरोना वायरस का सोर्स कोई ना कोई जानवर होता है | जो कि इंसान को इफेक्ट करता है और ह्यूमन टू ह्यूमन कांटेक्ट से ह्यूमन टू ह्यूमन ट्रांसमिशन से कोरोना वायरस एक  इंसान में फैलते हैं | जैसे कि SARS-CoV का ओरिजिनल सोर्स था चमगादड़ |

MERS-Cov  कोरोना वायरस ऐसा ही सिमिलर वायरस था जो कि मिडिल ईस्ट में 2012-13 में फैला था उसका ओरिजिनल सोर्स कोई कैमल यानी कि  ऊंट था |

यह जो नया कोरोना वायरस चला है इसका कोई एग्जैक्ट सोर्स नहीं पता चल पाया है कुछ साइंटिस्ट का कहना है कि इसका Original sourse है snake यानी कि सांप हो सकता है लेकिन कुछ साइंटिस्ट का मानना है कि sourse  फिर से चमगादड़ हो सकते हैं क्योंकि इस कोरोना वायरस में 96 परसेंट सिमिलरिटी है जो चमगादड़ से फैलते हैं |

कोरोना वायरस एक ऐसे वायरस के परिवार से संबंध रखता है जिसके संक्रमण से जुखाम, बुखार से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं |  इस वायरस के बारे में पहले कभी नहीं सुना गया था |अभी तक डॉक्टर इसका इलाज नहीं ढूंढ पाए हैं |  लेकिन इसकी रोकथाम के लिए वह दिन रात एक कर के solution ढूंढने में लगे हैं | 

कोरोना वायरस से होने वाली बीमारी के लक्षण


 

corona  virus

जितने भी कोरोनावायरस  है सबके लक्षण लगभग एक ही जैसे हैं | इसलिए यह समझ में नहीं आता कि नॉर्मल सीजनल फ्लू है या फिर कोरोना वायरस का लक्षण है |इसके लिए डॉक्टर को लेबोरेटरी टेस्ट करना पड़ता है कि आपको नॉर्मल फ्लू है या फिर कोरोनावायरस है | अगर आप कोरोना वायरस से पीड़ित है तो 2 से 11 दिन लग जाते हैं इसके लक्षण दिखने में |  तो चलिए हम कोरोना वायरस के मुख्य लक्षण जान लेते हैं –

  • सर दर्द की शिकायत होती है
  •  नाक लगातार बहती है  यानी जुखाम
  •  बुखार
  •  गले में खराश के लक्षण है
  •  सांस लेने में दिक्कत होती है
  •  बार बार छींक आती है
  • जिनको अस्थमा है उनका अस्थमा पहले से बिगड़ जाता है
  •  हमेशा थकान महसूस होती है
  •  निमोनिया के भी शिकायत  हो सकती है
  • फेफड़ों में सूजन आ जाती है

कोरोना वायरस कैसे फैलता है


 

नोवल कोरोना वायरस का इंफेक्शन बिल्कुल उसी प्रकार फैलता है जिस प्रकार नॉर्मल खांसी जुखाम फैलता है लोगों के बीच में |  जैसे कि कोई खांसता है या छींक मारता है तो फ्लूड के कारण या फैल जाता है और किसी इंसान के कांटेक्ट जैसे चूना और हाथ मिलाना | जब आप अपने हाथों से वायरस के ऑब्जेक्ट को छू लेते हैं तो जब आप अपने हाथों से अपनी आंख नाक और मुंह छूते हैं तो वायरस फैलता है | 

बचने के उपाय


 

Corona Virus से बचने के वही तरीके हैं जो हम जनरली खांसी जुखाम से बचने के लिए करते हैं |

World Health Organizetion सलाह देता है कि –

  • अपने हाथ सहित टाइम पर धोएं
  •  हैंड वॉश ज्यादा कीजिए सही तरीके से कीजिए
  •  आप जब भी खांसते है या छींकते हैं तो रुमाल या फिर टिशू पेपर का इस्तेमाल कीजिए

World Health Organizetion ने यह भी बताया है कि मास्क यूज करना ज्यादा इफेक्टिव नहीं होता है और यदि आप बीमार है या फिर कोरोना वायरस से पीड़ित है या फिर किसी भी बीमारी से तो आप मास्क यूज़ करें ताकि बाकी लोगों को आपसे वायरस ना फैले |

कोरोना वायरस के उपचार

जैसा कि हम सभी देख रहे हैं कि सोशल मीडिया पर बहुत सी ट्रीटमेंट वायरल हो रहे हैं –

Corona Virus को ठीक करने के लिए जैसे कि व्हाट्सएप पर एक मैसेज डाला गया था कि अदरक को गर्म पानी में उबाल करके पीने से आप कोरोना वायरस से बच सकते हैं  मतलब अदरक खाओ और कोरोना वायरस को ठीक करा लो | कोई कहता है ब्लीच पीने से ठीक हो जाएगा कोरोना वायरस कोई कहता है ]ऑर्गेनिक ऑयल पीने से ठीक हो जाएगा कोरोना वायरस |  हमारी सरकार कहती है कि होम्योपैथिक और आयुर्वेदा से ठीक हो जाएगा यह कोरोना वायरस |एक हिंदू महासभा के प्रेसिडेंट कहते हैं कि गोमूत्र और गोबर खाने से ठीक हो जाएगा कोरोनावायरस |

Also read : IPS क्या है 

Also read : CCC क्या है

Also read : Dark क्या है

लेकिन सच तो यह है दोस्तों की यह सारे के सारे लोग बेकार की बाते कर रहे हैं क्योंकि अभी तक किसी के भी पास कोई भी उपचार अवेलेबल नहीं है | अभी तक कोई भी वैक्सीन नहीं आई है कोरोना वायरस के खिलाफ |

कोई आपको बचा सकता है तो वह है आपका इम्यून सिस्टम | अगर आपका इम्यून सिस्टम strong  होगा तो वह Corona Virus से फाइट कर लेगा और आप रिकवर हो जाएंगे | वैक्सीन बनाने का प्रयास अभी जारी है और यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि इसे तैयार होने में 1 साल लग सकता है | जब 2002 – 2003 में SARS कोरोना वायरस आया था तो इसकी वैक्सीन बनने में 20 महीने लग गए थे | 

दुनिया भर की सरकारें यह कोशिश कर रही हैं कि कोरोना वायरस को फैलने से रोका जाए और कुछ हद तक इनकी कोशिश कामयाब भी हुई है क्योंकि 99 % केसेस जोकि कोरोना वायरस इनफेक्टेड है हमें चाइना में देखने को मिले हैं और चाइना के अंदर भी 90% केस एक जगह के अंदर है यानी वूहान के अंदर है |

चाइना  ने भी वहा पर पाबंदी लगा दी है कि ना कोई वहां से बाहर जा सकता है और ना ही कोई बाहर से उस जगह पर जा सकता है |

बाकी देश भी यही करने की कोशिश कर रहे हैं जैसे कि ऑस्ट्रेलिया और सिंगापुर ने चाइनीस टूरिस्ट पर बैन लगा दिया है| रसिया, मंगोलिया और नेपाल ने चाइना के साथ अपने बॉर्डर को बंद कर दिया है | भारत सरकार भी इसके लिए बहुत काम कर रही है दिल्ली में चीन से लौटे 5 लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण मिले थे | सभी को RML अस्पताल में रखा गया था इसके पहले तीन लोग को भी रखा गया था रिपोर्ट के नेगेटिव आने पर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी | कोरोना वायरस को लेकर हमारे भारतीय सरकार ने कई कदम उठाए हैं जैसे दिल्ली समेत मुंबई चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोच्चि, कोलकाता एयरपोर्ट पर थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था की गई है | 

हमें ध्यान रखना चाहिए

  •  सी फूड खाने से बचें
  •  मीट मार्केट में जाने से बचें
  •  कच्चा या पक्का मांस ना खाएं
  •  बीमारी के लक्षण वाले लोगों से आप दूरी बनाएं
  •   साबुन या हैंड वॉश से हटाए
  •   मुंह  ढक  कर खासें या छींके |

हेलो दोस्तो , मैं आशा करती हू कि आपको ये Corona Virus kya hai|इसके लक्षण और उपचार क्या है post पसंद आई होगी | अगर आपके पास इस post के सम्बन्ध में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे comment करके बताये और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ Social Media पे जरूर शेयर करें |

इस तरह की और Post की जानकारी पाने के लिए आप हमारी egyanhub की Website के Notification को ज़रूर Subscribe करे जिससे आपतक हमारे New Article के बारे में Latest Update मिल सके | तो दोस्तों हम फिर मिलेंगे कुछ इसी प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारियों के साथ नए पोस्ट में | 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *